#InviteAndEarn Fill my invitation code 6QRZY to join StarMaker share cash, the highest can receive up to 1,000 worth of gifts in total! https://m.starmakerstudios.com/d/playrecording?app=sm&from_user_id=1125899909067229&is_convert=true&is_convert=true&new=true&pid=ShareInvitation&recordingId=1125899918483972&share_type=share&share_type=more&showBar=1&showNavigation=true

क्या आप भी खेल के दीवाने हैं, तो लगाइए पैसे और यदि आप विजेता बनते हैं तो मिलता है लाखों:-

दोस्त, मैं इन दिनों क्रिकेट, नाइफ़-अप, पूल जैसे मज़ेदार गेम खेल रहा हूँ और नकद जीत रहा हूँ! मुझे जॉइनिंग बोनस में ₹50 भी मिले. आओ, WinZO पर क्रिकेट का एक मैच खेलें. इस लिंक से WinZO डाउनलोड करो https://winzo.sng.link/Bqcna/ncs9?_dl=&_p=7802d64b53&pcn=7802d64b53 . रेफर कोड लगाएं: HWP655CF

पथरी को कर देगा जड़ से खत्म कर

null पथरी को कर देगा जड़ से खत्म कर देगा यह उपाय credit: third party image reference बालम खीरे के बारे में तो आप जानते ही होगे।और यह पहाड़ी इलाके में पाया जाता है। दोस्तों आज हम आपको इसका एक ऐसा फायदे बताने जा रहे हैं। जिन्हें सुनकर आज आप चौक जाएंगे। जी हां दोस्तों बालम खीरा कैसे उनसे पथरी को 1 दिन के अंदर निकाला जा सकता है। पथरी कैसी भी हो और कहीं भी हो बालम खीरा के सेवन से एक दिन के अंदर आप पथरी को जड़ से खत्म कर सकते हो। दोस्तों उसके लिए आपको आज हम बालम खीरा का सेवन कैसे करना है वह बताइए। और इसकी सहायता से आप पथरी को जड़ से खत्म कर सकते हैं। पथरी का रामबाण इलाज है इससे बड़ा इलाज कोई नहीं। इस तरह से करें सेवन- दोस्तों सबसे पहले आपको बालम खीरा को किसी काट के मिट्टी के बर्तन में पानी लेकर और बालम खेलों को उबाल लेना है। इसको आपको एक-दो घंटे रखना है। तो तो फिर उबालने के बाद आप इसका सेवन सुबह के समय खाली पेट दो चम्मच करें। ऐसा करने से पथरी जड़ से खत्म हो जाएगी

WRITER:-ARIF MOH.

null WRITER:-ARIF MOH. [Image 323.jpg] If I would be given a Chance to start all over again. I would choose network marketing::::::::::::::::::: ::::::::::: :::::::::::::::::::::::::::::::::::::::: :::::::::::::::::::::::::::::::;: आभार:- md. Aslam, md riyaz, md wasim, md aneesh, md afzal, md salman motivational speaker, ::::::::::::::::::: ::::::::::::::::::::::::: ::::::::पृस्तावना:-:: जब 2015 में मैंने नेटवर्क शब्द के बारे में गहराई से सोंचा और समझा। इसके बाद मोटीवेशनल स्पीकर के द्वारा positive thinking💭🔰 के बारे में बहुत, Badi gehre se समझा Teesra Shabd motivational speaker se sunar lena sikhe sikhe ine shabdon per main adhyayan Kiya Iske bare mein Adhik se Adhik pustake Padi aur positive thinking ka upyog Kiya upyog ke anusar Maine Paya Ek Insan ke liye teen chijen bahut mahatv rakhte Hain. Net sbd se networking Shabd banana hai . Maine kuchh time Commission salesman ke roop Mein kam Kiya Jiska network aur Positive Thinking ki Sahi Jankari prapt ho sake Agar Har Insan ko yadi ine chijon ka gyan ho to Jivan Mein Har Insan Safal ho sakta hai hai yah Pustak Mul Roop se Vidyarthi salesman se Vidyarthi salesman manager ityadi Logon ke liye ek Safal Pustak sabit Hogi I hope:💐💐

🌹🌹🌹🌹 LiFE MANTRA 💐💐🌹🌹

null 🌹🌹🌹🌹 LiFE MANTRA 💐💐🌹🌹 :::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::: ::::::::::::: 💐💐💐 खुद से बोले सच :::::💐💐💐 Sabhi vyakti चाहते हैं कि उनके बच्चे उनके बच्चे कि उनके बच्चे उनके बच्चे हैं कि उनके बच्चे उनके बच्चे कि उनके बच्चे उनके बच्चे प्रतियोगी परीक्षाओं में सफल हो इसके लिए उन पर दबाव बनाते हैं बच्चे माता पिता की बात मान की बात मान उस राह पर चल पड़ते हैं चल पड़ते हैं अरे जरूरी नहीं कि नहीं कि उन्हें कामयाबी ही मिल जाए आखिर कैसे चुने चुने आखिर कैसे चुने चुने सही रास्ता! कई बार मैंने मैंने अपने फ्रेंड और लोगों से सुना है और बहुत से स्टूडेंट्स यही सवाल करते हैं की पेरेंट्स कहते हैं कि यह करो यह मत करो वह दूसरों का उदाहरण देते हैं कि उसने ऐसा किया था इतनी मेहनत की थी इसलिए आज करे की बुलंदियों पर हैं बुलंदियों पर हैं लेकिन बच्चे कहते हैं कि पेरेंट्स और रिश्तेदारों की इतनी सारी उम्मीदों के साथ भी कंफ्यूज हो जाते हैं कि आखिर करें तो क्या करें कोई विकल्प नहीं सोचने पर जी जान से जुट जाते हैं आईआईटी आईआईएम जाते हैं आईआईटी आईआईएम मेडिकल जैसी परीक्षाओं की तैयारी में मेहनत करते हैं लेकिन दिशा सही नहीं होने से मंजिल नहीं मिलती इसलिए सबसे पहले बच्चों को सही दिशा देना जरूरी यह खुद उन्हें देखना होगा कि अपने मन से लड़ाई कर रहे हैं या दूसरों की देखा देखी इसका 2 तरीके से तरीके से पता लगाया जा सकता है पहला की कंपटीशन कहां है और आप कहां ध्यान लगा सकते हैं आपकी एकाग्रता कैसी हैं इसके लिए आपको खुद से सच बोलना होगा अपनी स्कूली परफॉर्मेंस को जांचे उसका परफॉर्मेंस को जांचे उसका आकलन करने के बाद ईमानदारी से सवाल पूछे कि क्या आप मेरे का करता करता का करता करता मेरे का करता करता का करता है उन लाखों बच्चों के प्रतिस्पर्धा करने की जो देश के कोने कोने से प्रतियोगिता में हिस्सा लेने आते हैं हर किसी की क्षमता अलग अलग हो सकती हैं हो सकती हैं क्योंकि हर बच्चा एक जैसा नहीं होता इसलिए अपने दिमाग को खोलें सोचे और फिर फैसले मेहनत के साथ स्मार्ट पार्क करना होगा। 💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐💐🌷🌷 सही तरीके से सही दिशा में किया गया कार्य अमित पलता की बुलंदियों पर पहुंचाता है यह सफलता की बुलंदियां की बुलंदियां हासिल करवाता है। 🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌹🌹🌹🌹 हमें वह कार्य कार्य करना चाहिए जिसमें जिसमें सफल होने की उम्मीद अधिक हो आज के समय में अक्सर पेरेंट्स अपने बच्चों को इस प्रकार से जाते हैं उन पर एक प्रकार का दबाव डालते हैं कि तुम 6 घंटे की जगह 10 घंटे पढ़ो जिससे आपके नंबर एग्जाम में अधिक आएं आएं अधिक आएं आएं दबाव की वजह से बच्चा अधिक रात तक पड़ता पड़ता है और सुबह जल्दी से उठता है जब बच्चा स्कूल जाता तो नींद पूरी न होने के कारण बच्चा अपनी नींद कक्षा में करता उसका पढ़ाई में मन नहीं लगता धीरे-धीरे एक अच्छा विद्यार्थी अपनी पढ़ाई को अच्छी तरीके से नहीं सीख पाता वही दूसरा बच्चा जो कुछ समय पहले कमजोर था वह अच्छे नंबर लाता है और यह प्रक्रिया अक्सर गांव में बच्चे अपने पिताजी के सामने अपनी बात को कहने से कतराते हैं वह सोचते हैं कि अगर मैंने पिताजी से का पिताजी मैं इंजीनियर नहीं बनूंगा का पिताजी मैं इंजीनियर नहीं बनूंगा मैं इंजीनियर नहीं बनूंगा पिताजी मुझे डेंगे क्योंकि बचपन से लेकर पेरेंट्स बच्चों पर अधिक दबाव डालते हैं गांव की अपेक्षा शहरों में पेरेंट्स अपने अपने बच्चों पर कम दबाव डालते हैं जिससे बच्चे अपने मनपसंद करियर को चुनते और अपने पिताजी को कैरियर के बारे में बताते हैं पेरेंट्स भी बच्चों का सपोर्ट करते हैं और बच्चे अपनी मंजिल को हासिल कर पाते हैं आप अपने बच्चों को स्वयं कैरियर चुनने दें जरा हम और आप सभी लोग मिलकर सोचें कि अगर हम किसी कार्य को नहीं करना चाहते हैं अगर कोई हमसे जबरदस्ती उसी काम को कर आता है तो हम है तो हम उसे उतनी अच्छी ढंग से नहीं कर पाते। ✍✍✍✍point:-🌹🌹🌹🌷 आप अपने बच्चों ko Swayam career chunne ka Sahas De aur bacche ki Ruchi ke hisab se aap bhi bacchon ka Sahyog Karen aap Sabhi Log Yaha ki Cricket ke Bhagwan se jaane wale Sachin Tendulkar ke pita ji ne kaha hota hai beta Tu hi doctor Ban Ja तो क्या सचिन तेंदुलकर एक तो क्या सचिन तेंदुलकर अच्छे डॉक्टर बन सकते थे आंसर नहीं नहीं बन सकते सचिन तेंदुलकर की बचपन से बचपन से से क्रिकेट मैच अगर वह स्वयं अपने कैरियर को नाच उनके तो शायद भारत को एक इतना अच्छा बल्लेबाज नहीं मिल पाता इसी प्रकार अगर लता मंगेशकर ने स्वयं अपने कैरियर का चुनाव ना किया होता तो भारत को एक अच्छी गायिका कहां मिलती इसलिए आप से मेरा विनम्र निवेदन है कि आप अपने बच्चों को स्वयं कैरियर चुनने की सलाह थी लाइफ मंत्रा🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹🌹

शारीरिक कमजोरी से परेशान ? तो

null शारीरिक कमजोरी से परेशान ? तो रोजाना केले के साथ करें इन 2 चीजों का सेवन हमारे इस चैनल पर स्वागत है , अगर आप हमारे इस चैनल पर नए है तो चैनल को आज ही फॉलो जरूर कर लें। credit: third party image reference आजकल की व्यस्त लाइफस्टाइल और ख़राब खानपान की वजह से आजकल लोगों का शरीर बहुत ज्यादा कमजोर हो गया है। कमजोर शरीर के कारण कई प्रकार दिक्क्तों का सामना करना पड़ता है। और इसी शारीरिक कमजोरी को दूर करने के लिए हम आपके लिए लाये है बहुत ही शानदार तरीका। दोस्तों वैसे केले के बारे में आप सभी जानते है। केले में पर्याप्त मात्रा में फाइबर और पोटेशियम पाया जाता है। 1 . केला और दूध , केले और दूध के नियमित सेवन आपके शरीर का वजन तेजी से बढ़ता है। और नई मांसपेशियों का निर्माण होता है। अगर आप अपने शरीर का वजन जल्दी बढ़ाना चाहते है तो आपको दिन में दो बार केले और दूध का सेवन करना चाहिए। इससे आपका वजन भी बढ़ेगा और शरीर भी ऊर्जावान बना रहता है। वही केले में मैग्नीशियम पाया जाता है , जो मसल्स के निर्माण में सहायक है। esme दूध में भरपूर प्रोटीन पाया जाता है। इस लिए रोज दूध पीये। इस आर्टिकल में लिखी गई बातें लेखक के निजी विचार हैं, रोज़धन ना ही इन विचारों को दर्शाता है ना ही इनकी पैरवी करता है.

37 प्रकार की बीमारियों को भी द

null 37 प्रकार की बीमारियों को भी दूर करने की क्षमता रखता है, यह दुनिया का सबसे रहस्यमयी पौधा…! अपने हमेशा सुना होगा की यदि किसी चीज का ज्ञान लेना हो तो पूरा ज्ञान लेना चाहिए क्योंकि आधा अधूरा ज्ञान कभी भी लाभदायक नहीं होता है। ठीक उसी प्रकार आयुर्वेद में भी बहुत सी ऐसी चीज़ो के बारे में बताया गया है लोगों जिनके बारे में पूरा तरह नहीं जानते है और वह आयुर्वेदिक चीज़ो का पूरा फायदा भी नहीं उठा पाते है। आज हम आपको आज के लेख में बताने जा रहे है की एक ऐसे पौधे को जिसके बारे में आज तक आपको शायद किसी ने नहीं बताया होगा। यह कोई मामूली पौधा नहीं बल्कि एक ऐसा पौधा है जिसके बारे में यदि आपको पूरा ज्ञान है तो आप 37 प्रकार की बीमारियों को भी पूरी तरह से समाप्त कर सकते है। इस लाभकारी पौधे का नाम अतिबला है। चलिए जानते है की इस पौधे का इस्तेमाल आप कौन कौन सी बीमारियों में किस प्रकार से कर सकते है। पेशाब का बार-बार आना अतिबला की जड़ की छाल का पाउडर यदि चीनी के साथ लें तो बार-बार पेशाब आने की बीमारी से छुटकारा मिलता है। मसूढ़ों की सूजन अतिबला के पत्तों का काढ़ा बनाकर यदि आप प्रतिदिन दिन में 3 से 4 बार कुल्ला करें तो रोजाना के इस प्रयोग करने से मसूढ़ों की सूजन व मसूढ़ों का ढीलापन दूर होता है। गीली खांसी अतिबला के साथ कंटकारी, बृहती, वासा के पत्ते और अंगूर को बराबर मात्रा में लेकर काढ़ा बना लेते हैं। इसे 14 से 28 मिलीमीटर की मात्रा में 5 ग्राम शर्करा के साथ मिलाकर दिन में दो बार लेने से गीली खांसी बिल्कुल पूरी तरह से ठीक हो जाती है। दस्त अतिबला (कंघी) के पत्तों को देशी घी में मिलाकर दिन में 2 बार पीने से दस्त में काफी लाभ होता है। पेशाब के साथ खून आना अतिबला की जड़ का 40 मिलीलीटर की मात्रा में काढ़ा सुबह-शाम पीने से पेशाब में खून का आना पूरी तरह से बंद हो जाता है। बवासीर अतिबला के पत्तों को पानी में उबालकर उस्का अच्छी तरह से काढ़ा बना लें। इस काढ़े में उचित मात्रा में ताड़ का गुड़ मिलाकर पीयें। इससे बवासीर में बेहतरीन लाभ होता है। पेट में दर्द होने पर अतिबला के साथ पृश्नपर्णी, कटेरी, लाख और सोंठ को मिलाकर दूध के साथ पीने से पित्तोदर यानी पित्त के कारण होने वाले पेट के दर्द में बहुत ही लाभ मिलेगा। मूत्ररोग अतिबला के पत्तों या जड़ का काढ़ा लेने से मूत्रकृच्छ (सुजाक) रोग पूरी तरह से दूर होता है। ये काढ़ा सुबह-शाम 40 मिलीलीटर लें। यदि इसके बीज 4 से 8 ग्राम रोज लें तो काफी लाभ होता है। शरीर को शक्तिशाली बनाना शरीर में कमजोरी होने पर अतिबला के बीजों को पकाकर खाने से शरीर की ताकत काफी बढ़ जाती है।

Create your website with WordPress.com
Get started